महिला और बाल विकास मंत्रालय ने, पोषण माह के दौरान महिला और बाल विकास मंत्रालय एनीमिया और डायरिया बीमारियों के सरल समाधान के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए सभी कर्मचारियों और आगुंतकों से संपर्क किया।

एनीमिया, टेस्ट, ट्रीट और टॉक से हीमोग्लोबिन की स्थिति का पता चलता है और एनीमिया की रोकथाम और नियंत्रण के लिए परामर्श सेवाएं भी प्रदान की गई हैं। डायरिया नियंत्रण के लिए ओआरएस और जिंक की गोलियों के उपयोग तथा डायरिया की रोकथाम और नियंत्रण के लिए परामर्श सेवाएं शिविर में उपलब्ध कराई गई हैं।

 

राष्ट्रीय पोषण माह

सितंबर महीने को ‘राष्ट्रीय पोषण माह’ के रूप में मनाया जाता है। इस माह के दौरान गतिविधियां सामाजिक व्यवहार परिवर्तन और परामर्श (एसबीसीसी) पर केंद्रित की जाती हैं। इस दौरान व्यापक विषय हैं : प्रसवपूर्व देखभाल, अधिक से अधिक स्तनपान (प्रारंभिक और विशिष्ट), पूरक आहार, एनीमिया, विकास निगरानी, लड़कियों की शिक्षा, आहार, शादी की ठीक आयु, स्वच्छता और साफ-सफाई, स्वस्थ खानपान।

समग्र पोषण या पोषण अभियान या राष्ट्रीय पोषण मिशन के लिए प्रधानमंत्री की महत्वपूर्ण योजना, बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के पोषण में  सुधार लाने वाला भारत सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है।

 

Source: PIB

Relevant for GS Prelims