वेनेजुएला में जारी राजनीतिक अस्थिरता के बीच प्रदर्शनकारियों ने विपक्ष के नेता जुआन गाइदो के नेतृत्व में सरकार के तख्तापलट की कोशिशें तेज कर दी हैं। मंगलवार को इसी कड़ी में प्रदर्शनकारियों ने देश के अलग-अलग हिस्से से कराकस के लिए मार्च निकाला। इस दौरान राष्ट्रपति मादुरो के वफादार सैनिकों ने प्रदर्शनकारियों को बख्तरबंद गाड़ियों से कुचलने की कोशिश भी की। सेना की कार्रवाई में करीब 69 लोग घायल हुए हैं।

इसी बीच कई सैनिकों ने मादुरो के निर्देश मानने से इनकार करते हुए वेनेजुएला स्थित ब्राजील दूतावास से शरण मांगी है। फिलहाल ऐसे सैनिकों की संख्या 25 है। ब्राजील सरकार ने वेनेजुएला से देश में आने वाले लोगों के लिए 5.7 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त रक्षा बजट निर्धारित किया है, ताकि परेशानी में रह रहे लोगों की मदद की जा सके।

तख्तापलट की कोशिश करने वालों को सजा मिलेगी: मादुरो
मादुरो ने मंगलवार देर शाम अपने खिलाफ तख्तापलट की कोशिशों को नाकाम घोषित कर दिया। उन्होंने दावा किया कि जिन लोगों ने देशवासियों को भड़काया है उन्हें सजा मिलकर रहेगी। इसी बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि अगर क्यूबा अपने पड़ोसी वेनेजुएला का समर्थन करता रहेगा तो उस पर सबसे उच्च स्तर के प्रतिबंध लगा दिए जाएंगे। अमेरिका का आरोप है कि मादुरो सरकार की मदद के लिए क्यूबा के हजारों सुरक्षा अधिकारी वेनेजुएला में ही मौजूद हैं।

(Adapted from Bhaskar.com)