जापान के सम्राट अकिहितो 30 साल के शासन के बाद बुधवार को राजगद्दी अपने पुत्र नारुहितो को सौंप देंगे। राजसत्ता के साथ ही इस देश में युग परिवर्तन भी होता है। अकिहितो का काल ‘हेईसेई’ के नाम से जाना जाता रहा। नारुहितो का शासनकाल ‘रिवा’ के नाम से जाना जाएगा।

राज परिवार में एक राजकुमार, बाकी तीन राजकुमारियां
1. जापान में राज परिवार की परंपरा के अनुसार सिर्फ पुरुष ही राजा बन सकता है। इस लिहाज से देखें तो चिंता की बात यह है कि अकिहितो के नाती-पोतों में सिर्फ एक राजकुमार ही बचता है। बाकी तीन राजकुमारियां हैं।

2. बेटियों से छिन सकता है राजपरिवार का दर्जा
2. राज परिवार में नियम यह भी है कि अगर कोई राजकुमारी किसी गैर राजपरिवार में विवाह करती है तो उसका राजपरिवार का दर्जा स्वत: छिन जाता है। सम्राट अकिहितो की एक बेटी ने बीते साल एक सरकारी अफसर से शादी की थी। इसके बाद उनका राज परिवार की सदस्य होने का दर्जा छिन गया था।

3. ये हैं राज परिवार के सदस्य
3. सम्राट अकिहितो की उम्र 85 साल है। उनकी पत्नी मिचिको शोदा हैं। शोदा की आयु 84 वर्ष है। शोदा जापान के एक अमीर परिवार से आती हैं। अंग्रेजी साहित्य में स्नातक हैं और बच्चों की किताबों का जापानी भाषा में अनुवाद करती रही हैं।

4. 1957 में मिचिको और अकिहितो की पहली मुलाकात हुई। दो साल बाद दोनों ने शादी कर ली। दोनों ने अपने तीनों बच्चों की परवरिश परंपरा से कुछ अलग की। उन्हें महल के स्टाफ के सुपुर्द करने के बजाए आमलोगों से मिलने-जुलने और विदेश में शिक्षा का अवसर मुहैया कराया।

5. नारुहितो : पहले राजकुमार जिन्होंने विदेश में शिक्षा ग्रहण की
5. प्रिंस नारुहितो की उम्र 59 साल है। वो जापान के 126वें राजा बनेंगे। राज परिवार के वे पहले ऐसे सदस्य हैं जिन्होंने विदेश में शिक्षा ग्रहण की। माना जा रहा है कि नारुहितो पिता के काम को तो आगे बढ़ाएंगे ही, लेकिन वैश्विक परिदृश्य में भी उनकी भूमिका अब बड़ी होगी।

6. नारुहितो ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से स्नातक किया है और थेम्स नदी पर उनका एक शोधपत्र भी प्रकाशित हुआ था। पत्नी का नाम मसाको ओवादा है। दोनों की 17 साल की एक बेटी है और उसका नाम ‘आइको’ है।

7.अकिहितो के दूसरे बेटे हैं प्रिंस फुमिहितो
7. सम्राट अकिहितो के दो बेटे हैं। नारुहितो के छोटे भाई का नाम प्रिंस फुमिहितो है। उनकी उम्र 53 साल है। कयास ये लगाए जा रहे हैं कि नारुहितो के बाद फुमिहितो राजसत्ता नहीं संभालेंगे, बल्कि इसे अपने बेटे हिशाहितो को सौंप देंगे।

8. ऐसा इसलिए भी संभव है कि जब नारुहितो राजगद्दी छोड़ेंगे तब तक फुमिहितो की उम्र करीब 83 साल हो चुकी होगी। अभी उनके बेटे की उम्र सिर्फ 12 साल है और उस वक्त 42 साल का हो जाएगा। फुमिहितो की पत्नी का नाम ‘प्रिंसेस किको’ है। वैसे इस युगल की दो बेटियां भी हैं। एक का नाम प्रिंसेस माको (27) है जबकि दूसरी का नाम प्रिंसेस काको (24) है।

(Adapted from Bhaskar.com)