भारतीय सेना को हिमालय में 32 इंच लंबे और 15 इंच चौड़े पदचिह्न मिले हैं। माना जा रहा है कि ये हिममानव या येति के हो सकते हैं, जिनका जिक्र पौराणिक कथाओं में किया जाता रहा है। सेना की ओर से बर्फ पर पदचिह्न की तस्वीरें सोमवार को ट्विटर अकाउंट पर शेयर की गईं। आर्मी के पवर्तारोही दल को ये रहस्यमयी पदचिह्न 9 अप्रैल को मकालू बेस कैम्प के पास नजर आए थे। यह कैम्प 5250 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। पैरों के ये निशान मिलने की जगह नेपास के माकालू वरुण नेशनल पार्क के पास स्थित है।

सेना का कहना है कि टीम के लौटने पर पदचिह्न की तस्वीरों का निरीक्षण किया गया। तस्वीरें ट्विटर पर साझा की गईं ताकि वैज्ञानिक तरीके से इस मुद्दे को उठाया जा सके। दूसरी ओर, आर्मी के तस्वीरें पोस्ट करने के बाद येति के अस्तित्व को लेकर सोशल मीडिया में बहस छिड़ गई है। यूजर्स ने सवाल उठाए कि कहीं यह प्रैंक तो नहीं। सिर्फ पैरों के निशान ही क्यों शेयर किए? कुछ लोगों ने कहा कि शायद भारतीय सेना का ट्विटर अकाउंट हैक हो गया।

Footprints of Yeti

येति को लेकर अलग-अलग दावे
हिमालय में येति की मौजूदगी को लेकर अलग-अलग दावे किए जाते रहे हैं। कहा जाता है कि येति इंसान और वानर की तरह दिखते हैं, जो सामान्य मानव से काफी बड़े होते हैं। इन्हें हिमालय का असली निवासी माना जाता है। हालांकि, अभी तक येति की मौजूदगी के पुख्ता प्रमाण नहीं मिले हैं।

(Adapted from Bhaskar.com)